कविनामा-2(राजेश जोशी के लिए)'s image
1 min read

कविनामा-2(राजेश जोशी के लिए)

Neelabh Ashk (Poet)Neelabh Ashk (Poet)
0 Bookmarks 32 Reads0 Likes


इमली की तरह है मेरा दूसरा संगाती
एक विराट झंखाड़
मानो झाड़ियों की दैत्याकार प्रजाति का वंशज

चुहल-भरी चुटकी काटने
और सनसनी पैदा करने वाले फल
वैसी ही प्रकृति और स्वभाव है इसका
थोड़ा-सा काइयाँपन भी जो इमली में ही हो सकता है

लेकिन इसकी विराट काया पर नन्हीं-नन्हीं पत्तियों का
मज़ाक न उड़ाइएगा
वरना पलट कर यह कह सकता है आपसे
बड़े सूरमा हो तो लो मेरी पत्तियों पर डंड पेल कर तो दिखाओ।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts