हमारा सजन ख़ुश-नज़र बाज़ है's image
1 min read

हमारा सजन ख़ुश-नज़र बाज़ है

Muhammad Quli Qutb ShahMuhammad Quli Qutb Shah
0 Bookmarks 29 Reads0 Likes

हमारा सजन ख़ुश-नज़र बाज़ है

तो उस दिल में सब इश्क़ का राज़ है

गले हाथ दे खेले नारियाँ सूँ खेल

जिसूँ खेले पीव ऊ सर-अफ़राज़ है

अधर रंग भरे सुहते मानिक नमन

कि याक़ूत रंग उन थे वरसाज़ है

सक्याँ साईं छंद सूँ पँवाए अपस

तुमन हुस्न के तीं सो ऊ नाज़ है

सँवारे हैं मज्लिस पिया रूप सूँ

मदन मुतरिब उस में ख़ुश-आवाज़ है

सँवाँरया है मन-मोहनियाँ अपने तीं

पिया कूँ ऐनू सूँ तुरुक ताज़ है

नबी सदक़े 'क़ुतबा' पे आनंद-दार

अली की मया थे सदा बाज़ है

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts