उसने जब कहा मुझसे गीत एक सुना दो ना's image
1 min read

उसने जब कहा मुझसे गीत एक सुना दो ना

Majaz LakhnawiMajaz Lakhnawi
0 Bookmarks 82 Reads0 Likes

उसने जब कहा मुझसे गीत एक सुना दो ना
सर्द है फिजा दिल की, आग तुम लगा दो ना

क्या हसीं तेवर थे, क्या लतीफ लहजा था
आरजू थी हसरत थी हुक्म था तकाजा था

गुनगुना के मस्ती में साज़ ले लिया मैं ने
छेड़ ही दिया आख़िर नगमा-ऐ-वफ़ा मैंने

यास का धुवां उठा हर नवा-ऐ-खस्ता से
आह की सदा निकली बरबत-ऐ-शिकस्ता से

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts