जब दुआएँ भी कुछ असर न करें's image
1 min read

जब दुआएँ भी कुछ असर न करें

Josh MalsiyaniJosh Malsiyani
0 Bookmarks 139 Reads0 Likes

जब दुआएँ भी कुछ असर न करें

क्या करें सब्र हम अगर न करें

दास्ताँ ख़त्म हो ही जाएगी

आप क़िस्से को मुख़्तसर न करें

छोड़ता ही नहीं हमें सय्याद

वर्ना पर्वा-ए-बाल-ओ-पर न करें

क़ाबिल-ए-अफ़्व मैं नहीं न सही

न करें आप दरगुज़र न करें

उन को एहसास-ए-दर्द-ए-दिल कैसा

मर भी जाऊँ तो आँख तर न करें

उस की बेचारगी का क्या कहना

जिस की आहें भी कुछ असर न करें

ये भी तश्हीर-ए-शाएरी है 'जोश'

आप दीवान मुश्तहर न करें

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts