रोग दिल को लगा गईं आँखें's image
1 min read

रोग दिल को लगा गईं आँखें

Hasrat MohaniHasrat Mohani
0 Bookmarks 51 Reads0 Likes

रोग दिल को लगा गईं आँखें

इक तमाशा दिखा गईं आँखें

मिल के उन की निगाह-ए-जादू से

दिल को हैराँ बना गईं आँखें

मुझ को दिखला के राह-ए-कूचा-ए-यार

किस ग़ज़ब में फँसा गईं आँखें

उस ने देखा था किस नज़र से मुझे

दिल में गोया समा गईं आँखें

महफ़िल-ए-यार में ब-ज़ौक़-ए-निगाह

लुत्फ़ क्या क्या उठा गईं आँखें

हाल सुनते वो क्या मिरा 'हसरत'

वो तो कहिए सुना गईं आँखें

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts