साथी सो न कर कुछ बात's image
1 min read

साथी सो न कर कुछ बात

Harivansh Rai BachchanHarivansh Rai Bachchan
0 Bookmarks 33 Reads0 Likes

साथी सो न कर कुछ बात।

पूर्ण कर दे वह कहानी,
जो शुरू की थी सुनानी,
आदि जिसका हर निशा में,
अन्त चिर अज्ञात
साथी सो न कर कुछ बात।

बात करते सो गया तू,
स्वप्न में फिर खो गया तू,
रह गया मैं और
आधी रात आधी बात
साथी सो न कर कुछ बात।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts