हम जौर भी सह लेंगे मगर डर है तो यह है's image
1 min read

हम जौर भी सह लेंगे मगर डर है तो यह है

Arsh MalsianiArsh Malsiani
0 Bookmarks 40 Reads0 Likes

हम जौर भी सह लेंगे मगर डर है तो यह है
ज़ालिम को कभी फूलते-फलते नहीं देखा

अहबाब की यह शाने-हरीफ़ाना सलामत
दुश्मन को भी यूं ज़हर उगलते नहीं देखा

वोह राह सुझाते हैं, हमें हज़रते-रहबर
जिस राह पै उनको कभी चलते नहीं देखा

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts