चमन में कौन है पुरसाने-हाल शबनम का's image
1 min read

चमन में कौन है पुरसाने-हाल शबनम का

Arsh MalsianiArsh Malsiani
0 Bookmarks 44 Reads0 Likes

चमन में कौन है पुरसाने-हाल शबनम का?
ग़रीब रोई तो ग़ुंचों को भी हँसी आई

नवेदे-ऐश से भी लुत्फ़े-ऐश मिल न सका
लिबासे-ग़म ही में आई अगर ख़ुशी आई

अजब न था कि ग़मे-दिल शिकस्त खा जाता
हज़ार शुक्र तेरे लुत्फ़ में कमी आई

दिए जलाए उम्मीदों ने दिल के गिर्द बहुत
किसी तरफ़ से न इस घर में रोशनी आई

हज़ार दीद पै पाबन्दियां थीं, पर्दे थे
निगाहे-शौक़ मगर उनको देख ही आई

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts