!!सपनों के बादशाह !!'s image
Poetry1 min read

!!सपनों के बादशाह !!

YUGANSHU RAVIYUGANSHU RAVI April 5, 2022
Share0 Bookmarks 76 Reads0 Likes
दिन आये-रात आये ।।
सुबह वो शाम आये!
कुछ सच लाये -कुछ ख्वाब लाये ।।
होठों पर मुस्कान छाये !
मगर जरूर !
जरूर फिर सपने आये !लेकिन 
कुछ हसीन आये -कुछ गमगीन आये ! 
                   ----युगांशु रावि -----

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts