पर्यावरण हमारा's image
Poetry1 min read

पर्यावरण हमारा

YOGENDRA SINGH RAJAWATYOGENDRA SINGH RAJAWAT January 4, 2023
Share0 Bookmarks 16 Reads0 Likes

"पर्यावरण हमारा"


वन-उपवन में लताकुंज,


नित हवा का सहारा,


सबसे प्यारा पर्यावरण हमारा ।



हरिमा संग हरियाली ,


जहां मन अमत्सर हो जाते हैं ।


खेत खलियान खिल उठते ,


और बसंत बहार लाते हैं।


कल-कल निनाद नदियां बहती,


सुकून भरा सागर किनारा ,


सबसे प्यारा पर्यावरण हमारा ।



अमराई में झूला-झूलते ,


अल्हड़-अलमस्त विचरते ।


मधुपों के शहद की धारा,


पेड़ बचाए जीवन सारा ।


आओ मिलकर पेड़ लगाए ,


बस मेरा एक ही नारा ,


सबसे प्यारा पर्यावरण हमारा ।


✍️योगेंद्र सिंह राजावत



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts