एक शाम की बात's image
Poetry1 min read

एक शाम की बात

SanskarSanskar February 19, 2022
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes
तेरा शाम को मिलने न आना
जैसे उबलते दूध में  किसीने
नींबू ही निचोड़ दिया हो

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts