जाल's image
Share0 Bookmarks 93 Reads0 Likes

रंग मेरा कुछ ऐसा बदला है,जैसे टूटा पत्ता डाल से!

अब तो मन सा ऊब गया है,अपने ही ऐसे हाल से!!

न जाने कब तक रहेगा ये पतझड़ इस जीवन में!!

कोई तो आये ऐसा भी, कहे बाहर आ जा जाल से!!


#विरेश✍

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts