ग़म's image
Share0 Bookmarks 302 Reads0 Likes

मेरे ग़मों को न पढ़ ले कोई,अल्फ़ाज़ बदल लेता हूँ मैं!

भर आता है गला जो कभी,आवाज़ बदल लेता हूँ मैं!!

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts