कभी तो खुद से बात कर's image
MotivationalPoetry2 min read

कभी तो खुद से बात कर

VinodVinod October 19, 2021
Share1 Bookmarks 97 Reads1 Likes
कभी तो खुद से बात कर 
बड़े बड़े सपनें 
संजो लिए आंखों में 
कभी तो बची जिंदगी का 
कुछ पल बैठ हिसाब कर 
एक पलड़े में रख 
जो जी चुका
दूजे में जीना जो बाकी है 
चोंक जाएगा 
हाथ से जिंदगी जब
खिसकती पाएगा
कितनी बची ?
40 साल 
20 साल
10 साल या इससे भी कम
पिछले 40 कब निकले
पता चला क्या ?
आने वाले भी रेत के जैसे 
मुट्ठी से खिसक जाएंगे
आ उतर आसमान से
जमीन पर आ 
खुद से बात कर
झांक अंदर अपने
एक सुंदर सी जिंदगी
तेरा इंतजार करती है
उड़ेगा कब तक गुमनाम आकाश में 
कागजी पंख लेकर  
आकाश भी तो झूक जाता है 
जमीन के एक छोर पर 
फिर जमीन से इतनी बेरूखी कैसी
आ बैठ जमीन पर
खुद से बात कर
जिंदगी को मौत से बड़ी आज कर
खुल कर हंस ना कर कत्ल जिंदगी का
बच्चा बन तो सही बचपन को याद कर
गरूर तोड़कर बड़पन के आसमां का
कभी तो खुद से बात कर 
बड़े बड़े सपने 
संजो लिए आंखों में 
कभी तो बची जिंदगी का 
कुछ पल बैठ हिसाब कर 
कभी तो खुद से बात कर 
कभी तो खुद से बात कर। 
डॉ .विनोद कुमार 
दिनांक: 8/11/2020

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts