लगइलू आग पानी में भोजपुरी ग़ज़ल विनीत सिंह शायर's image
Romantic PoetryPoetry1 min read

लगइलू आग पानी में भोजपुरी ग़ज़ल विनीत सिंह शायर

Vinit SinghVinit Singh October 15, 2022
Share0 Bookmarks 29 Reads0 Likes

उमर सोरह में लगइलू आग पानी में

और तबाही मचइलू जिंदगानी में


हँसेलु क के तू बरबाद लरिका के

मारबू कतना के चढ़ल जवानी में


बिजुरी से तोहर केहू ना बच पाए

रहेलू तू शायद एही पलानी में


महल शोहरत तोहर तोहरे मुबारक बा

जिनगी कटता इहवा दलानी में


लोग मुड़ मुड़ के तोहके देखे लागल

पहिर चल लू जब कुर्ती आसमानी में


राह रह रह के बदलल ठीक ना होला

आइल बा मोड़ फेर तोहर कहानी में


~विनीत सिंह



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts