कभी's image
यकीन करना कितना मुश्किल होता है
कि महान शख्सियत कभी आम भी रही होगी
मेरी मां कभी बच्ची भी रही होगी
शहर बसने से पहले लहलहाते खेत रहे होंगे
पेड़ कभी छोटा सा पौधा रहा होगा
आज का सबसे बड़ा आविष्कार
केवल एक ख्याल भर रहा होगा

ऐसे ही शायद किसी को यकीन नही आएगा
मैं कभी तुम्हारे बेगैर रहा हूंगा।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts