सवेरा's image
0 Bookmarks 37 Reads0 Likes
उजाला हो गया है
चलो उठा 
बहुत जोर से आवाज आई
छोड़ कर मीठे सपने
आँखों को मलते
अँगड़ाई लेते
बिस्तर से उठ कर
माँ से चिपक जाना
गोद में लेट कर चिल्बिलाना
इससे अच्छा उजाला?
हो ही नहीं सकता।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts