कमी इसमें कुछ भी नही's image
Poetry1 min read

कमी इसमें कुछ भी नही

Mahendra Veer Vikram SinghMahendra Veer Vikram Singh March 11, 2022
Share0 Bookmarks 80 Reads2 Likes
इश्क मे मुश्किल कुछ भी नही  
अगर कुछ है तो बस उसे निभा पाना।
वादों की बरसात मे.... 
कमी कुछ भी नही.... 
अगर कुछ है तो बस उसे निभा पाना।
 हो जिससे इश्क.... 
हासिल वही हो जाय, 
प्यार हमे हमारा मिल जाय
 इश्क पहला हो आखिरी.... 
कमी उसमें कुछ भी नही.... 
अगर कुछ है तो बस उसे निभा पाना
 इश्क मे कम ही मिलता है मौका दोबारा.... 
कमी इसमे कुछ भी नही... 
अगर कुछ है तो बस उसे 'भुना' पाना। 
इश्क मे मुश्किल कुछ भी नही....✍

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts