तुम कब आओगे's image
Share0 Bookmarks 31 Reads1 Likes

जीवन की जगमगाती डगर पर

मैं अकेली भटक रही ,

एक छोटा सा दीप लिये

एक ज्योति में ज्योति भटक रही ,

पूछते हुए

तुम कब आओगे ..

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts