मस्ती में मसरूर's image
Kumar VishwasPoetry1 min read

मस्ती में मसरूर

Umesh ShuklaUmesh Shukla January 6, 2023
Share0 Bookmarks 3 Reads0 Likes



नए साल के पहले हफ्ते में 

सर्दी का प्रकोप है भरपूर 

तंत्र औरों की दशा भूलकर  

बस अपनी मस्ती में मसरूर

कार्यालयों में ठंड का असर

दिख रहा इत उत चहुंओर 

अफसरों के दर्प के आगे बौने

अधीनस्थ नाचते बने चकोर

सरकारी कोष को निपटाने की

आकुलता दिखती बहुत उद्दाम

वित्तीय वर्ष के शेष माह में ही

कोष खर्चने को जारी धूमधड़ाम

हे प्रभु सब नीति नियंताओं को 

आप ही दीजिए सद्बुद्धि, विवेक

टिकाऊपन को ध्यान में रखके ही

बनाएं विकास योजनाएं अनेक

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts