महंगाई का विशाल जिन्न's image
Kumar VishwasPoetry1 min read

महंगाई का विशाल जिन्न

Umesh ShuklaUmesh Shukla November 3, 2021
Share0 Bookmarks 68 Reads0 Likes

दीपावली पर भारी पड़ा

महंगाई का विशाल जिन्न

समाज का हर एक वर्ग

बढ़ती महंगाई से खिन्न

खाद्य तेल अब बिक रहे

पौने दो सौ रु किलोग्राम

हर घर और परिवार का

बजट हो गया है धड़ाम

चीनी भी महंगी हुई देख

दूजी वस्तुओं की रफ्तार

आम आदमी के आंचल में

बस हाय तौबा का उपहार

गणपति और माँ लक्ष्मी सभी

सरकारों को शीघ्र दें सदबुद्धि

तंत्र को सक्रिय कर महंगाई पे

लगाम के कार्य को करें सिद्ध

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts