अपनेपन का भाव's image
Share0 Bookmarks 17 Reads0 Likes


ईश्वर ने सोच विचार कर

रचा अपनेपन का भाव

जहां उसका अस्तित्व है

वहां और न कोई प्रभाव

जहां कहीं प्रबल रहता

अपनत्व का अहसास

वहीं सचमुच परिवार के

भाव का होता है प्रकाश

सब लोग मिल जुलकर रहें

बांटें सुख व दुख दिन रात

मेरा परिवार सुखद रहे यह

भाव तभी तीव्र होंगे साक्षात

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts