श्री गणेश's image
Share0 Bookmarks 26 Reads0 Likes
माता पार्वती के प्यारे,
पिता शिव के दुलारे ।

बुद्धि के अनंत पारावार,
रिद्धि सिद्धि के प्राणाधार ।

शुभ कार्यो में सर्वप्रथम,
मोदकों के महा प्रीतम ।

मूषक जिनकी सवारी,
पूजे उन्हें दुनिया सारी ।

भक्तों के दुखहर्ता, पालनहार,
पधारों "गणपति बप्पा" हमारे द्वार ।।

: तुषार "बिहारी" 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts