हिन्दी दिवस's image
Share0 Bookmarks 72 Reads0 Likes
अपनी भाषा से मोह 
लेती है हिन्दी,
अपने जज़्बातों से जोड़ 
लेती है हिन्दी,

हृदय के भाव का वर्णन 
करती है हिन्दी,
सरलता से शब्दों का लेन देन 
करती है हिन्दी,

दुख को मिटाने का अनुभव 
रखती है हिन्दी,
सुख में खुशियां लुटाने की कला 
रखती है हिन्दी,

अपनी बातें साझा करने में मदद 
करती है हिन्दी,
अपने ज्ञान के प्रकाश से रोशन 
करती है हिन्दी,

विदेशों में अपना परचम 
लहराती है हिन्दी,
बिना किसी भेदभाव से अपना 
बनाती है हिन्दी,

सुनहरे अक्षरों से जुड़कर खुद को 
सजाती है हिन्दी,
कोहरे पन्नों पे उतरकर कविता 
बन जाती है हिन्दी, 

: तुषार "बिहारी"

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts