हाँ , कुछ मित्र's image
Share0 Bookmarks 97 Reads0 Likes
कुछ मित्र बहुत खास होते है , 
हाँ , कुछ मित्र । 

साथ ना होकर भी 
साथ होने का एहसास कराते है ,

बात हो ना हो पर 
हमारी बात किया करते है ,
 
हमारे चेहरे के भाव से हमारा 
चेहरा पढ़ लिया करते है , 

हमारे हिस्से की परेशानी को 
खुद भी उठाया करते है , 

अपने हिस्से की खुशी 
हमसे भी साझा किया करते है ,
 
सुख में साथ हो ना हो पर 
दुख में हमेशा साथ खड़े रहते है , 

जब कभी हम राह भटक जाते है 
तो सही राह दिखाते है , 

हमारे परिवार में जन्म ना लेकर भी 
हमारे घर के सदस्य हुआ करते है ,
 
हम उन्हें " ब्रदर फ्रॉम अनदर मदर " 
से भी संबोधित किया करते है । 

:  तुषार "बिहारी"

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts