rel jindgi ki's image
Share0 Bookmarks 49 Reads0 Likes

जरूरत क्या है हमें 

अब सर खपाने की,

अब आ गए है हम 

गिरफ़त में जमाने की

धक्का देती भिड़

आगे को बढा जाएगी,

और वही गुरु किल्ली ,

भाग की चाबी बन जाएगी ,

दखल करके पाया, तो

क्या पाया "सोनी"

जो लीखा है जाने वही

तकदीर बन जाएगी,

करके भी हमें वो सब

मिल्ता कहां है

मर्जी उसकी है कामयाबी

लीखी जहां है,

ताकत दीया हैउसने

बस कलम चलाने की ,

अब आ ग​ए है हम​

गिरफ़्त मे जमाने की,



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts