महंगाई's image
Share0 Bookmarks 67 Reads1 Likes

का करु राम , उमर गुजर ग​ई कमाई में ,

समझ ना आए , आज की इस महगाई में ,

बस यही सो‍चके ,ना कर सका सगाई मै ,

क्या कमा खीला पाउंगा एसे ईस लुगाई वे ,

अपना तो ठिक है ,भुखा रुखा रहलु मै ,

क्या क्युं कर लु , अपनी जग हसाई मै ,

बस यहि सोच के कवांरा बैठा हुं भाई मै,

आज नहि तो कल बन जाउ किसी का घर जमाईं मै ,

 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts