सजन तोरी आवे याद...'s image
Romantic PoetryPoetry1 min read

सजन तोरी आवे याद...

Tanish GamerTanish Gamer September 15, 2021
Share0 Bookmarks 9 Reads0 Likes

सजन तोरी आवे याद ||ध्रु ||


बादल बरसे, नैना तरसे

अंग अंग बिजली

देवे साद! 


सजन तोरी आवे याद || १ ||


छलत रही मोहे 

बैरन रात,

चंदा चले जाना

सुरज के बाद! 


सजन तोरी आवे याद || २ ||


सर-सर आवे

हवा गुलाबी

हाथों मे नही

तेरा हाथ! 


सजन तोरी आवे याद || ३||


रचनाकार : गणेश कुलकर्णी (समीप)

मोबाईल नंबर :9518047449

तारीख : 14th Sep 2021,@5.46 pm. (शाम मे)

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts