मकर सक्रांति's image
Poetry1 min read

मकर सक्रांति

Suruchi SalhotraSuruchi Salhotra January 15, 2023
Share0 Bookmarks 16 Reads2 Likes

जन पर्व मकर सक्रांति आज,

गंगा स्नान की धूम मची।

धनु से जो मकर राशि में आया,

सूर्य की लाली बढ़ने लगी।

उत्तरायण जो सूर्य हुआ,

नव चेतना प्राणियों में जगी।

प्रभा से तमस भाव घटा ,

कोहरे की चादर छटने लगी।

पतंगों से आसमान रंगीन हुआ,

नये सपनों ने उड़ान भरी ।


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts