मायूसियाँ's image
Share0 Bookmarks 151 Reads0 Likes

वो शख्श इस तरह मायूस रहता हैं|

खुद पर ही शिकायत, खुद से ही खफा रहता हैं||

वो शख्श इस तरह.......


मिला हूँ उससे कई मर्तबा मैं,

पर खुदा जाने, वो कौन से ख्यालों में रहता हैं||

वो शख्श इस तरह........


उससे अब लफ़्ज़ों में बात नहीं होती,

लगता हैं वो खामोशियों के समंदर पीता हैं||

वो शख्श इस तरह.......


उसके ही शहर में अब यह चर्चा हैं,

ना जाने वो कहाँ लापता हैं||

वो शख्श इस तरह.......


एक चुभन से जिसके सिने में दर्द उतर आता था,

अब लगे ज़ख़्म तो भी, मरहम, पट्टी, दवा ना दुआ करता हैं||

वो शख्श इस तरह......

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts