'' ख़ामोशी '''s image
Share0 Bookmarks 0 Reads4 Likes
जिन दरख़्तों में पत्ते न हो , फिर कहाँ उसके साये होते है !
ख़ामोश से हो जाते हैं वो लोग , जो ज़िन्दगी के सताये होते हैं !

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts