मुस्कान!!!'s image

किसी की मुस्कान खरीदने दुनिया में निकले हो
खुश खुद कितने तुम जरा ये तो हिसाब लगाना !!

दौलत से मिलती खुशियां तो महलों में ना होता कभी वीराना
सोने से पेट जो भरते खेतों में कभी ना उगता अन्न का दाना
हथियारों से मिलती शांति तो मंदिर ना होता किसी का जाना

किसी की मुस्कान खरीदने दुनिया में निकले हो
खुश खुद कितने तुम जरा ये तो हिसाब लगाना !!

कठिनाई से जो हम घबराते कभी ना बनता कोई आशियाना
तानाशाहों से चलती दुनिया तो होता ना कभी बुद्ध का आना
युद्ध से हो जाते जीवन के हल तो प्यार का ना होता ताना बाना

किसी की मुस्कान खरीदने दुनिया में निकले हो
खुश खुद कितने तुम जरा ये तो हिसाब लगाना !!

शैलेंद्र शुक्ला “हलदौना”

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts