न हक़ दो इतना's image
Share0 Bookmarks 38 Reads0 Likes
न हक़ दो इतना की
तकलीफ हो तुम्हें,
न वक़्त दो इतना कि
गुरुर हो तुम्हे.
कोई मालिक नही किसीका
वक़्त - वक़्त की बात है ये
कब करवट बदलेगा वो,
न पता है मुझे ,
न पता है तुम्हे.

शहरयार नीरज 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts