कागज की कश्ती में's image
Poetry1 min read

कागज की कश्ती में

seema392soodseema392sood January 6, 2023
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
कागज की कश्ती में,

हमने बचपन सजाया था,

वह पल वह लम्हा,

लौट के फिर ना आया था।।

सीमा सूद ✍️ स्वरचित रचना

लुधियाना पंजाब दोराहा।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts