कलम's image
Share0 Bookmarks 19 Reads0 Likes

पिस्तौल की छह गोलियों…

 

पहली गोली कहती है-

मेरी नाम बुद्धि,

मैं इंसान को चलाती हूँ। 

 

दूसरी गोली कहती है-

मेरी नाम ज्ञान,

मैं इंसान को पढ़ाती हूँ। 


तीसरी गोली कहती है-

मेरी नाम तर्क,

मैं इंसान का सोच हूँ।

 

चौथी गोली कहती है-

मेरी नाम स्मृति,

मैं इंसान का प्राप्ति हूँ।

 

पांचवी गोली कहती है-

मेरी नाम अनुशासन,

मैं इंसान का बंधन हूँ।

 

छठी गोली कहती है-

मेरी नाम भक्ति,

मैं इंसान का विजय हूँ।

 

मेरा कलम का नाम पिस्तौल…


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts