दीवाली's image

दो दीपक को एक बाती से हम जलाएंगे,

यह मिट्टी, मिट्टी का पूजन, मिट्टी ही उपजाएंगे;

कोई घर बिन दीप पंक्ति के रह न जाए खाली,

बरस बीत बस एक दिवस को ही आती तो दीवाली। 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts