my inspiration and hero's image
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes

 these words dedicated to my inspiration and my hero my lovely father

आज बहुत सी बातें कहनी हैं पर शब्द कम पड़ेगे,

पापा आप वृक्ष की भांति हो ,जिसकी छाँव में मेने अपना जीवन बिताया !कभी दोस्त बन कर तो कभी पथपरदर्शक बन 

मार्ग आपने हमें दिखाया। हर रिश्ते को सँभाला और मजबूत डोर से बँधाया ।kbhi चाँद की शीतलता जैसा तो 

कभी सूर्य की अग्नि भांति,सवभाव आपने अपना हमें दिखाया। 

कभी हिटलर तो कभी गाँधी बन ,अंदाज अपनाना समझाया 

जीवन के हर पहलू को आप ने अपने ढंग से दिखाया 

धन्यवाद को उस ईशवर को जिसे आप को हमसे मिलवाया 

                

                       - sanju kumari sanjan






No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts