चुनावी दोहे-5's image
Poetry1 min read

चुनावी दोहे-5

SahilSahil January 29, 2022
Share0 Bookmarks 295 Reads0 Likes

शेर हिरन-खरगोश के, धो-धो पीते पाँव  

सुनते जंगल राज में, फिर से भये चुनाव 


-----x-----


खद्दरधारी घूमते, सबके पड़ते पाँव

एक बार बस वोट दो, खा जाएंगे गाँव 


-----x-----


पाँच बरस बस देश हित, खीर-मलाई खाय 

टिकट कटे, पाला बदल, फिर से देश बचाय


-----x-----


टूटा छप्पर ढांक के, भूखा करे उपाय

नेता झोपड़ देख के, खाने ना आ जाय


-साहिल

Twitter: @Saahil_77


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts