बजट's image
Share0 Bookmarks 103 Reads0 Likes

वो पेश किये जा रहे थे इश्क़ का बजट,

हम मुस्कुरा के दिल पे नए टैक्स सह गए 


-----x-----


बजट की पोटली में छिपे लाख शाहकार, 

ग़रीब की थाली में तो रोटी नहीं बढ़ी


- साहिल

Twitter: @Saahil_77

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts