मन की गति's image
Share0 Bookmarks 61 Reads0 Likes

मन की गति को ना नापिये,

मन चंचल बौराय,

मन पर जो ना काबू रखे,

जीवन शाप बन जाय ।

मन के बस में ना रहे,

मन बस में जो होय,

हार जीत का प्रश्न नहीं,

जीत विश्वास की होय ।।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts