भाग दौड़'s image
Share0 Bookmarks 48 Reads0 Likes

जीवन के भाग दौड़ में

इंसान खो गया,

इंसानियत और रिश्ते नाते

से दूर हो गया,

प्रेम और सहयोग का जज्बात न रहा,

प्रतियोगिता के दौड़ में

अजनबी हो गया ।

आधुनिकता में खो गए सारे,

भावनात्मक रिश्ते,

हर इंसान खुद में खुद से

मशगूल हो गया ।।



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts