बंदिशें's image
Share0 Bookmarks 51 Reads0 Likes

हमारी बंदिशें कम नहीं हुई,

फिर भी हम विश्वास करते हैं,

यह दौर बदलेगा एक दिन,

ऐसा आत्मविश्वास रखते है ।

आंधियाँ आती है गुजर जाने के लिये,

अपने तबाही का निशान छोड़ जाती हैं,

जिन्दगी फिर से उठ खड़ी हो जाती है,

उजड़े आशियाने को बसाती है ।

सिर झुकाने से मुसीबतें कम नही होती,

मुकाबला करने से हालात सुधरेंगे,

हार कर बैठ जाने वाले की जिन्दगी में,

खुशियों का चमन कैसे खिलेँगे ।Our restrictions have not eased,
yet we believe,
This round will change one day,
Have such confidence.

The storms come to pass,
leaves a trace of its destruction,
Life rises again
Settles the desolate dwelling.

Tilting the head does not reduce the troubles,
Fighting will improve the situation,
In the life of a loser,
How will the spark of happiness bloom?


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts