पवन दुग्गल's image
Share0 Bookmarks 54 Reads1 Likes

आज में फिर आपको रुबरु करवाता हूँ एक दमदार शख्शियत से जो भी किसी परिचय के मोहताज नही है उनका नाम है Pawan Duggal साहब, ये दलित समुदाय से आते हैं इन्होंने 2004 से 2007 तक हुए घड़साना रावला किसान आंदोलन का नेतृत्व किया, जिसमें 7 किसान भाइयों की शहादत हुई, इनको 14 महीने की जेल और 24 मुकदमे पारितोषिक के रूप में निवर्तमान वसुंधरा सरकार ने दिए !


ये 2005 में अनूपगढ़ पंचायत समिति के प्रधान बने 2008 में विधायक के रूप में राजस्थान की विधानसभा में पहुचे और फिर इनकी पत्नी 2015 में घड़साना पंचायत समिति की प्रधान बनी, इनकी एक बेटी हैं अन्नू दुग्गल जो B. Tech कर रही हैं ! 


ये अपने पूरे परिवार के साथ पिछले 9 महीने से किसान आंदोलन में दिल्ली बॉडर पर हैं आंदोलन के मैस की पूरी जिम्मेदारी इनके कंधो पर हैं जो पूरी ईमानदारी और सम्पर्ण समर्पण भाव से निभा रहे हैं दुग्गल साहब एक अच्छे वक्ता के साथ बहुत हिम्मत वाले व्यक्ति हैं जो हमेशा किसानों साथियो का हौसला अफजाई का काम करते रहते हैं इनका कहना है कि, मैं और मेरा पूरा परिवार किसानों के साथ हैं और मोदी सरकार से तब तक लड़ेंगे जब तक तीनो कृषि कानून रद्द व MSP पर कानून नही बनेगा तब तक !



No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts