ख्वाब's image
Share0 Bookmarks 24 Reads1 Likes
मेरे ख्वाब मर चुके हैं:-
उन्हें जिंदा मैं ही करूँगा ,
कल तक रेंगते थे:-
उन्हें परिंदा मैं ही करूँगा ,
जो कम्बख्त जलते हैं:- मुझसे
माँ कसम:- उन्हें तो शर्मिंदा मैं ही करूँगा ,
मेरे ख्वाब मर चुके हैं:-
उन्हें जिंदा मैं ही करूँगा ,
          ~ रोहित के.डी.

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts