पीताम्बर  [ Pitambar ]'s image
HoliPoetry2 min read

पीताम्बर [ Pitambar ]

rmalhotrarmalhotra March 17, 2022
Share0 Bookmarks 423 Reads1 Likes

जो श्याम के रंग में रंग गया

रंग उस पर कोई चढ़ता नहीं

जादू है मोहन की मुरलिया में

रंग यूहीं किसी का चढ़ता नहीं


मुरली ने मन को मोह लिया

छवि अद्भुत तुम्हारी बनवारी है

पीताम्बर सारा अम्बर हुआ

फूलों से खिली हर क्यारी है

 

जिसने भी तेरा ध्यान किया

उसका तो जीवन धन्य हुआ

मन जिसने तुमको सौंप दिया

उसको मनमोहन ने मोक्ष दिया

 

कण कण में है माधव वास तेरा

अर्पण तुझको है हर श्वास मेरा

एक बार जो हो जाए दर्शन तेरा

मोह माया का मिट जाए अँधेरा

 

मुरली की धुन पर झूमे है धरा

तेरी कृपा ने जीवन रंगो से भरा

उठा कर गोवर्धन उपकार करा

भक्तों का तुमने कल्याण करा

 

नहीं दूजा कोई तुम सा बनवारी

सबको सुख का वरदान दिया

कर्म ही धर्म है और धर्म ही कर्म है

अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया

 

सब कष्ट हरे, हर शंका का 

तुमने समाधान किया

दुर्योधन का चकनाचूर

तुमने अहंकार किया


जगत की जननी है नारी

उसको आदर सम्मान दिया

रक्षा का बंधन है पावन

द्रौपदी को वापिस उसका अभिमान दिया

 

जो श्याम के रंग में रंग गया

रंग उस पर कोई चढ़ता नहीं

जादू है मोहन की मुरलिया में

मन यूहीं किसी का रमता नहीं


राकेश की कलम से 

@Rakesh Malhotra


 


 





No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts