शायरी's image
Share0 Bookmarks 18 Reads1 Likes
बेघर ही रह गए हम,इश्क तेरे इलाके में,
दो गज ही जगह काफी थी,मिल जाती अगर,
ए-मोहब्बत तेरे आशियाने में।
लेखक-रितेश गोयल 'बेसुध'

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts