ये कैसा प्रकाश-पर्व !'s image
Poetry1 min read

ये कैसा प्रकाश-पर्व !

AbhishekAbhishek November 5, 2021
Share0 Bookmarks 19 Reads1 Likes

देर रात तक

पटाखों का शोर

धुएँ का ग़ुबार


अगली भोर

हर-सू

कचड़े का अंबार


कहते सब इसे

प्रकाश का त्योहार ! 


    - अभिषेक


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts