सब बातें नही है's image
SootradharPoetry1 min read

सब बातें नही है

Ravi VermaRavi Verma September 4, 2021
Share0 Bookmarks 141 Reads1 Likes



सब बस बातें नही है,

ये सारी काली रातें नही है,

प्यार है ही इतना ज्यादा,

कि अब हम जताते नही है।


माना हमारी मुलाकाते नही है,

तुम बिन दिन सुहाते नही है,

कैसे मान लूँ, रोज नही देखती मुझे,

क्या अब सपनों में हम आते नही है।


डूबे सब दिखाते नही है,

अंदर कुंठा बाहर गुस्सा,

प्रेम राग अब चलाते नही है,

इतना ही सीखा और जाना,

लगा लगा के नारे गुंजा दो आसमान चाहे,

पर खुद से लगाओ,

भगवान का नारा लगवाते नही है,


हो मोहब्बत तो खुद ही आएगी सामने,

उसके लिये जोर लगाते नही है,

बस यही मिला है सार मिलकर,

मोहब्बत की आंखों में,

बूंद भी कभी लाते नही है।





@ra1vi2

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts