उसका घर's image
Share0 Bookmarks 81 Reads2 Likes
न जाने किसने पत्थर फेंका, उसके घर पे, सबुत बस इतना था, उसके हाथ में अंगुठी थी !
बेगुनाह आधा शहर मारा गया मेरे हाथो से, 
बस वो ही बचे, उनकी अंगुलिया सूनी थी !!

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts