मै उसे ढुंढता रहा|'s image
Love PoetryPoetry1 min read

मै उसे ढुंढता रहा|

Rajnish SunilRajnish Sunil October 4, 2021
Share0 Bookmarks 12 Reads0 Likes

मै उसे ढुंढता रहा उस गली में

कई वर्षो तलक,

इक साम वो जो बिछड़ी फिर मिली नही|

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts